कोंगका ला दर्रा रहस्य भारतीय सैनिकों के एक समूह की कहानी है जो

1959 में हिमालय के कोंगका ला दर्रे में गायब हो गए थे।

सैनिक उस गश्ती दल का हिस्सा थे जिसे क्षेत्र में चीनी सैनिकों की रिपोर्ट की जांच के लिए भेजा गया था।

सैनिक कभी नहीं लौटे, और उनके शव कभी नहीं मिले।

सैनिकों के साथ क्या हुआ, इसके बारे में कई सिद्धांत हैं।

कुछ लोगों का मानना है कि वे चीनी सैनिकों द्वारा मारे गए थे, जबकि

अन्य मानते हैं कि उनका अपहरण एलियंस ने किया था।

इनमें से किसी भी सिद्धांत का समर्थन करने के लिए कोई सबूत नहीं है,

और कोंगका ला दर्रे का रहस्य अनसुलझा है।

कोंगका ला दर्रा एक दुर्गम और खतरनाक जगह है।

दर्रा 17,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित है, और मौसम बेहद कठोर हो सकता है।

यह क्षेत्र भालू, भेड़िये और हिम तेंदुए सहित कई जंगली जानवरों का भी घर है।